भारतीय कानून क्या है | What is Indian Law?

भारतीय कानून वह कानून है जो भारत रिपब्लिक के नागरिकों को विभिन्न क्षेत्रों में न्यायिक निर्णय और निर्देशन प्रदान करने के लिए बनाया गया है। यह एक संविधानीय रूप से स्थापित और सामूहिक रूप से स्वीकृत किया गया है जिसका उद्देश्य समाज को सुरक्षित और न्यायपूर्ण बनाए रखना है।

भारतीय कानून कई शाखाओं में विभाजित है, जैसे कि सिविल कानून, आपराधिक कानून, व्यापारिक कानून, मीडिया और मनोरंजन कानून, और अन्य। इन शाखाओं के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के मामलों और विवादों को सुलझाने के लिए विशेष नियम और प्रक्रियाएं हैं।

भारतीय कानून की एक महत्वपूर्ण विशेषता यह है कि यह धार्मिक, सामाजिक, और सांस्कृतिक मूल्यों को भी मध्यस्थ करता है ताकि न्याय का आदान-प्रदान समर्थन किया जा सके।

भारतीय कानून एक व्यापक क्षेत्र है जो विभिन्न प्रकार के कानूनी मुद्दों को प्रबंधन करता है और समाज को सुरक्षित रखने का प्रयास करता है। यह विविधता में है और विभिन्न विषयों को समाहित करता है जैसे कि सामाजिक न्याय, आपराधिक कानून, व्यापार नियम, और मानवाधिकार।

भारतीय कानून में कई शाखाएं हैं जो विभिन्न कानूनी मुद्दों को संरचित रूप से प्रबंधित करती हैं। यहां कुछ प्रमुख शाखाएं हैं जो भारतीय कानून के अंतर्गत आती हैं:

  1. सिविल कानून
  2. आपराधिक कानून
  3. व्यापारिक कानून
  4. कानूनी नौकरियां
  5. सांस्कृतिक और सामाजिक कानून
  6. पर्यावरण कानून
  7. स्वास्थ्य केयर कानून
  8. लेबर और कार्यस्थिति कानून
  9. आपदा प्रबंधन कानून
  10. शिक्षा कानून
  11. सामरिक और सैन्य कानून
  12. बैंकिंग और वित्तीय सेवाएं कानून
  13. उद्यमिता और विकास कानून
  14. भूमि और संपत्ति कानून
  15. सरकारी कानून और प्रशासनिक कानून
  16. भाषाएँ और साहित्यिक कानून
  17. मीडिया और मनोरंजन कानून
  18. भारतीय संघ कानून
  19. अंतरराष्ट्रीय कानून
  20. गोपनीयता कानून
  21. अंतरिक्ष और एविएशन कानून
  22. विवाद समाधान और पंचायती
  23. रियल एस्टेट कानून
  24. भ्रष्टाचार निरोधक कानून
  25. मानवाधिकार कानून

Leave a Comment